स्टीव वॉ के बारे में जाने – know about Steve Waugh in Hindi

steave wagh

स्टीव वॉ परम विकसित क्रिकेटर है जिन्होने 20 साल की उमर से ही क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था एशेज मे विव रिचर्ड्स पर बाउंसर मरते नज़र आए और 1989 में इंग्लैंड में अपने विकेट खोने से पहले 393 रन बनाए और विश्व कप जीतने में मदद की और 1994-95 में जमैका में 200 रन बनाए और 1997 की एशेज श्रृंखला ओल्ड ट्रैफर्ड में एक ऐतिहासिक सीरीज जीतने मे मदात की 1999 में टेस्ट कप्तान के रूप में सफल रहे और कैरेबियन में एक उष्ण 2-2 की बराबरी के साथ मॅच खेला लेकिन बाद में 16 मे से लगातार 15 टेस्ट जीत का विश्व रिकॉर्ड बनाया और साहसपूर्वक ऑस्ट्रेलिया का नेतृत्व किया.शेन वॉर्न के साथ 1999 के विश्व कप को जीतने मे मद की और दो बार ट्राफी जीतने वाले (टॉम मूडी के साथ) पहले आस्ट्रेलियाई बन गए.2001-02 वीबी सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के खराब प्रदर्शन के बाद उन्हे एक दिवसीय पक्ष से निकाल दिया गया था जब अपने खिताब की रक्षा करने के अवसर से वंचित किया गया था लेकिन उसके बाद वो फिर लॉट के ना आ सके वर्ष 2002-03 में एशेज श्रृंखला वेस्ट इंडीज दौरे पर जीतने के बाद टेस्ट टीम के कप्तान बने रहे और रिकी पोंटिंग के तहत ऑस्ट्रेलिया की 2003 विश्व कप जीतने वाली टीम का हिसा बने रहे कलकत्ता में कुष्ठ रोगियों की मदात करने वाली एक चैरिटी की स्थापना में मदद की और 2001 के ऑस्ट्रेलिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के रूप में एलन बॉर्डर मेडल जीता.और फिर भारत के खिलाफ 2003-04 श्रृंखला के अंत में सेवानिवृत्त ले लिया

Don't be shellfish...FacebookGoogle+TwitterEmail

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>