लाल बहादुर शास्त्री के बारे जाने – Know about Lal Bahadur Shastri in Hindi

lal-bahadur-shastri-GA53_l
लाल बहादुर शास्त्री 2 अक्टूबर, 1904 को रामदुलारी देवी और शारदा प्रसाद श्रीवास्तव के यहा Moghalsarai, संयुक्त प्रांत (उत्तर प्रदेश) में, पैदा हुए थे राष्ट्र के पिता महात्मा गांधी के साथ उन्होने अपना जन्मदिन मनाया था लाल बहादुर प्रचलित जाति व्यवस्था के खिलाफ थे और इसलिए अपने उपनाम छोड़ने का फैसला किया था 1925 में काशी विद्यापीठ, वाराणसी में अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी की “शास्त्री” नाम एक “विद्वान” या एक व्यक्ति को संदर्भित करता है उनके पिता शारदा प्रसाद, पेशे से एक स्कूल शिक्षक, थे जब वो दो वर्ष के थे तब उनके पिता का निधन हो गया था उनकी माता रामदुलारी देवी उनके दो बहनों के साथ अपने नाना हजारी लाल के यह रहने लगे नाना के घर धैर्य, आत्म नियंत्रण, शिष्टाचार, और अपने बचपन में निस्वार्थता किया मिर्जापुर में अपनी प्राथमिक शिक्षा पूरी करने के बाद, लाल बहादुर लाल बहादुर अपने मामा के साथ वाराणसी मे रहने लगे युवा लाल बहादुर, राष्ट्रीय नेताओं की कहानियों और भाषणों से प्रेरित, भारतीय राष्ट्रवादी आंदोलन में भाग लेने की इच्छा रखते थे वो अपना ज़ियादत्र समय विदेशी लेखकों को पढ़ कर बिताते थे 1915 में महात्मा गांधी के एक भाषण उनके जीवन की दिशा बदल दी और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की आग में कूदने का फैसला किया.स्वतंत्रता आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग लेने के लिए बहादुर ने अपनी पढ़ाई की उपेक्षा की 1921 में महात्मा गांधी द्वारा बुलाया असहयोग आंदोलन के दौरान, लाल बहादुर निषेधात्मक आदेश की अवज्ञा में प्रदर्शन के लिए गिरफ्तार भी हुए थे वर्ष 1928 में लाल बहादुर शास्त्री ललिता देवी, गणेश प्रसाद की सबसे छोटी बेटी से शादी कर ली.वो “दहेज प्रथा ‘के खिलाफ था और इसलिए दहेज को स्वीकार करने से इनकार कर दिया हालांकि अपने पिता जी के दोहराया आग्रह पर, वह खादी के 5 एकर के खेत के खेत को स्वीकार करने के लिए सहमत हुए.

Don't be shellfish...FacebookGoogle+TwitterEmail

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>