माइकल क्लार्क के बारे में जाने – know about Michael Clarke in Hindi

clarck
माइकल क्लार्क ऑस्ट्रेलिया के महान खिलाड़ियों में से एक है और टीम के कप्तन भी है, इन्हे ‘Pup’ के नाम से भी जना जता है .क्लार्क ने 18 की निविदा उम्र में न्यू साउथ वेल्स के लिए अपने कैरियर की शुरुआत कि थी.मामूली स्कोर के बावजूद, क्लार्क के कॅरिअर कि शुरुवत हुई,क्लार्क की पहली स्कॉलरशिप ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट अकादमी कि तरफ़ से थी फिर वो ऑस्ट्रेलिया के अंडर -19 टीम के कप्तान बनगए. यू साउथ वेल्स के लिए लगातार दो शतक बनने के बंद इंग्लैंड दौरे के लिए ऑस्ट्रेलिया ए के दौरे के लिए उन्हे चुना गया था.उसके बाद दक्षिण अफ्रीका के दौरे में दूसरा सर्वश्रेष्ठ औसत से शतक बनाया, 2003 आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के दौर के लिए ऑस्ट्रेलिया ने प्रयोग करने के लिए उन्हें चुना है और क्लार्क ने अपने वनडे करियर की शुरुआत कि, क्लार्क ने अनुकरणीय तकनीक का प्रदर्शन करते हुए नाबाद 39 के साथ चार विकेट से इंग्लैंड को हराया .एकदिवसीय मैचों में लगातार प्रदर्शन के साथ 2004 में भारत के लिए टेस्ट शरृंखला के लिए उनका चुनावों किया गया , भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 4-149 के इस्कोर पर ला खड़ा कार दिया था लेकिन क्लार्क ने 151 कि शानदार पारी खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया कि मुश्किलों को आसान कर दिया था . बल्ले और गेंद के साथ एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और 30 साल बाद भारत की धरती पर भारत को हराया ब्रिस्बेन में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक और शतक बनाते हुए इंटरनेशनल क्रिकेट स्तर बन गए और ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी के भविष्य बन गए एक उत्कृष्ट क्षेत्ररक्षक और एक उपयोगी बाएं हाथ के स्पिनर क्लार्क की जबरदस्त वृद्धि से ऑस्ट्रेलिया टीम को 2007 में विश्व कप जितने में मद मिलि लगातार चौथी बार ऑस्ट्रेलिया विश्व विजेता बनी और इसका सपना 2011 में भारत ने तोड़ा.उसके बाद बाद रिकी पोंटिंग ने कप्तनि छोड़ी और क्लार्क को वनडे और टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के पूर्णकालिक कप्तान बनाया गया.2012 में एससीजी पर भारत के खिलाफ 329 रन बनाते हुए क्लार्क ने घर पर टेस्ट में तिहरा शतक बनाने वाले एक ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के लिए एक 76 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ दिया और एक वर्ष में चार टेस्ट मत्चेस में दोहरे शतक स्कोर करने वाले एकमात्र बल्लेबाज बनने,जो एक एक विश्व रिकॉर्ड है

Don't be shellfish...FacebookGoogle+TwitterEmail

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>