रक्त परीक्षण-Blood tests In Hindi

21-bloodteast

आईएएनएस, यदि आपको पता चल जाए कि आप कितने साल तक जिंदा रहेंगे तो सोंचिये कितना अच्‍छा लगेगा। ऐसा करने से हम अपनी पूरी उम्र की सारी त्‍यारियां पहले से ही कर लेगें। अगर आप सोंचते हैं कि ऐसा नहीं हो सकता तो आप गलत हैं क्‍योंकि एक रिसर्च के अनुसार ये बात सामने आ गई है कि अब आप अपने खुद के रक्‍त परीक्षण से अपने बचे हुए जीवनकाल का पता लगा सकते हैं।


अभी तक रक्त परीक्षण से विभिन्न रोगों और शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा के बारे में ही जान सकते थे, लेकिन अब एक सस्ते रक्त परीक्षण से जीवनकाल का पता भी लगाया जा सकेगा। हाल ही में हुए एक अध्ययन में बताया गया है कि एक सस्ते से रक्त परीक्षण से पता चल सकता है कि किस व्यक्ति को दिल की बीमारी बढ़ने का खतरा है, यहां तक कि इससे भावी जीवनकाल का भी पता चल सकता है।


उटा के मुरे स्थित इंटरमाउंटेन मेडिकल सेंटर हार्ट इंस्टीट्यूट के शोधकर्ताओं ने हारवर्ड के ब्रिघम और बोस्टन के महिला अस्पताल के वैज्ञानिकों के साथ मिलकर संपूर्ण रक्त गणना (सीबीसी) के रिस्क स्कोर का एक नया अध्ययन किया, जिसका प्रयोग सामान्य रक्त परीक्षण में होता है।
साइंस डेली के मुताबिक, इंटरमाउंटेन मेडिकल सेंटर हार्ट इंस्टीट्यूट में हृदय और आनुवांशिक रोग विज्ञान के निदेशक और मुख्य शोधकर्ता बेंजामिन हॉर्न ने बताया कि चिकित्सक सालों से सीबीसी लैब परीक्षण का प्रयोग करते आ रहे हैं, लेकिन वे यह नहीं जान पाए कि इसके सभी घटक जीवन प्रत्याशा की जानकारी उपलब्ध करा सकते हैं। उन्होंने कहा, “सीबीसी को मानक विधि के तौर पर प्रयोग करके चिकित्सक , भविष्य में रोगी की मौत का कारण बनने वाली बीमारियों का आकलन करके उन्हें बेहतर चिकित्सा उपलब्ध करा सकते हैं।
“उन्होंने आगे कहा, “स्वस्थ लोगों के अलावा यह रिस्क स्कोर अधिक जोखिम वाले मरीजों की पहचान करने के साथ-साथ किस मरीज पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए, इसकी पहचान करने में भी चिकित्सकों की मदद करेगा। स्कोर से चिकित्सक उन मरीजों की भी पहचान कर सकेंगे जिन पर ज्यादा ध्यान देने और गहन परीक्षण की जरूरत नहीं है।”

Don't be shellfish...FacebookGoogle+TwitterEmail

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>