पीठ दर्द से तुरंत आराम-Back Pain Relief In Hindi

पीठ दर्द के कई अन्‍य कारण होते है जैसे – सही से बैठना, ज्‍यादा देर तक बैठे रहना, बिस्‍तर सही न होना, गलत तरीके से सो जाना आदि। अगर आपकी पीठ में दर्द है तो लापरवाही कतई न बरतें। एक्‍सपर्ट का मानना है कि पीठ दर्द आपको कई दिक्‍क्‍तों से घेर सकता है और पीठ दर्द होना अच्‍छी निशानी नहीं है। कई बार पीठ की मांसपेशियों में तनाव आने से भी दर्द होने लगता है ऐसे में आप टालमटोल न करें और दर्द से छुटकारा पाने के लिए डॉक्‍टरी सलाह लें। कई बार अगर आप सही रूटीन भी अपना लें तो पीठ दर्द से बचा जा सकता है। तो जानिए कुछ अच्‍छी आदतों के बारे में, जिन्‍हे अपनाने से पीठ दर्द से बचा जा सकता है.हम डॉक्‍टर के पास हमेशा किसी न किसी कारण के जाते ही रहते है लेकिन 80 प्रतिशत से ज्‍यादा लोग सिर्फ पीठ दर्द से निजात पाने के लिए डॉक्‍टर के क्‍लीनिक की ओर रूख करते है। हम सभी को कभी न कभी पीठ में दर्द जरूर परेशान करता है। मानव शरीर की संरचना में पीठ पर शरीर का अधिकतम भार रहता है, इस कारण उसमें दर्द होना सामान्‍य: बात है। हड्डी में किसी प्रकार की दिक्‍कत होना या नस का खिंचना आदि दर्द का कारण होता है। ऐसे में डॉक्‍टर को दिखाना जरूरी होता है।

1) जल्‍दी सोएं और पूरी नींद लें :

1

अगर आपको पीठ दर्द की हल्‍की शिकायत है तो पूरा रेस्‍ट लें। वैसे भी अगर आप जल्‍दी सोते है और पूरी नींद लेते है तो पीठ पर तनाव कम होता है जिससे उसमें दर्द नहीं होता है। अच्‍छी नींद, मांसपेशियों को मजबूत बनाता है उसे रिपेयर करता है। साथ ही यह भी ध्‍यान रखें कि आप जिस बिस्‍तर पर सोएं वह आपके शरीर को आराम दे। ज्‍यादा कठोर या ज्‍यादा मुलायम पर न सोएं, वरना शरीर का शेप बिगड़ता है और दर्द भी होने लगता है। सही तरीके से सोना भी दर्द भी आराम दिलाता है, मुड कर या टेडे – मेडे न सोएं।

2) विटामिन लें :

2

पीठ दर्द में विटामिन बी का सेवन आराम दिलाता है। अगर आप विटामिन बी का सेवन नियमित रूप से करते है तो पीठ में दर्द होने की संभावना कम होती है। विटामिन बी, सेंट्रल नर्व सिस्‍टम को सर्पोट करने का काम करती है और पीठ को मजबूती प्रदान करती है। इससे बॉडी में इम्‍यूनिटी भी बढ़ती है। जिन लोगों को बहुत ज्‍यादा दर्द की समस्‍या हो, वह ओमेगा 3 फैटी एसिड़ के कैप्‍सूल का सेवन भी कर सकते है।

3) स्‍वस्‍थ रहें :

3

हमेशा स्‍वस्‍थ रहें। व्‍यायाम करें। योगा करें। अगर आपके शरीर की हड्डियां कमजोर है तो कैल्शियम खाएं, पेट में दिक्‍कत है तो डॉक्‍टर को दिखाएं लेकिन शरीर को चुस्‍त और दुरूस्‍त बनाएं रखें। इससे आपकी बैक बोन कमजोर नहीं पड़ेगी और दर्द भी नहीं होगा। ज्‍यादा लेटने से भी कभी – कभी दर्द की समस्‍या हो जाती है, ऐसे में टहलना और चलना फिरना भी जरूरी होता है। आउटडोर गेम्‍स खेलें।

4) धुम्रपान न करें :

4

धुम्रपान कोई अच्‍छी आदत नहीं है और यह सारी बीमारियों की जड़ है। ऐसे में अगर आप धुम्रपान करते है तो तुंरत बंद कर दें। इससे हड्डियां गलने लगती है और पीठ का दर्द हड्डी में दिक्‍कत आने पर भी हो सकता है। हाइपरटेंशन, ब्‍लड़प्रेशर, हार्टअटैक और कैंसर जैसी कई घातक बीमारियां, धुम्रपान से ही होती है और इन्‍ही बीमारियों से पीठ दर्द भी होता है, क्‍योंकि मरीज ज्‍यादा से ज्‍यादा समय सिर्फ बिस्‍तर पर गुजारता है। ऐसे में अगर आप धुम्रपान करना बंद कर दें तो पीठ दर्द से काफी हद तक आराम मिल सकता है। धुम्रपान करने वाली सामग्री में निकोटिन होता है जिससे भी पीठ में दर्द होने लगता है।

5) पीठ पर मसाज लें :

5

पीठ में सप्‍ताह में एक से दो बार हॉट ऑयल मसाज जरूर लें। इससे मांसपेशियां मजबूत होती है और पीठ दर्द में भी आराम मिलती है। अगर आपको पीठ पर कोई मसाज देने वाला नहीं है तो आप टेनिस की बॉल को बैक पर रखकर फिराएं। इससे भी काफी आराम मिलेगा।

Don't be shellfish...FacebookGoogle+TwitterEmail

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>