प्रॉक्सी सर्वर क्या है – What is Proxy Server in Hindi

proxy_server
कम्प्यूटर सिक्यूरिटी आज वैश्विक जरूरत बन चुका है। इंटरनेट ने लोगों की जिंदगी बदल दी। एक ओर इस तकनीक ने पूरी दुनिया को आपस में जो़ड़ दिया है, वहीं दूसरी ओर लोगों के निजी जीवन में ताका-झाँकी भी बढ़ गई है। इसने अनेक प्रकार की समस्याएँ ख़ड़ी कर दी हैं।
आज आपराधिक गतिविधियों और आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने का सबसे आसान और सरल माध्यम इंटरनेट है। इंटरनेट पर आईपी एड्रेस को सुरक्षित करने की तकनीक से अवगत कराया। स्क्विड कैशिंग (द्रुतिका) प्रॉक्सी सर्वर है, जो हाल ही में अनुरोध किये गए वेब पृष्ठों के कैशिंग द्वारा बैंडविड्थ एवं प्रतिक्रिया समय में सुधार करता है। वर्तमान समय में विश्वल में कई सर्वरों को स्क्विड के साथ कन्फिगर (कन्फिगरेशन) किया गया है जिससे ग्राहकों को उच्च गति उपलब्ध करवाई जा सके। पारदर्शी मोड में स्क्विड का कन्फिगरेशन करने से, ग्राहक के पक्ष पर विशेष कन्फिगरेशन आवश्यक नहीं है। ग्राहक की ओर से आरंभ किये जानेवाले एवं इंटरनेट पर पोर्ट 80 पर पहुँचनेवाले सभी अनुरोध प्रॉक्सीक द्वारा स्वतः ही पुनर्निर्देशित किये जाते हैं। आवश्यकता के आधार पर हमें स्क्विड को पारदर्शी या अपारदर्शी प्रॉक्सी के रूप में कन्फिगर करना होगा। इस प्रयोगशाला का उद्देश्यय पाठकों को नेटवर्क में एक प्रॉक्सी सर्वर को लागू करने के लिए सक्षम बनाना है जिससे कि लैन के अन्य उपयोगकर्ता प्रॉक्सी के माध्यम से इंटरनेट की कार्यात्म कता तक पहुँचने का लाभ उठा सकते हैं।
सात समंदर पार बैठकर किसी के भी कम्प्यूटर को अपनी मर्जी से संचालित किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि जब भी कम्प्यूटर पर इंटरनेट और ई-मेल का उपयोग करना हो, प्रॉक्सी सर्वर सबसे सुरक्षित तरीका है।
वेब प्रॉक्सी सर्वर का प्रयोग आसान है. वेब प्रॉक्सी साइट जैसे कि हाइडमाइआस.कॉम पर जाकर वहाँ पर जो साइट/ब्लॉग नहीं खुल रहे हैं उनका यूआरएल भरने से वे आमतौर (यदि सर्वर इत्यादि की समस्या हो या आपके प्रतिष्ठान में प्रतिबंधित हों) पर खुल जाते हैं. परंतु हर बार आपको पता प्रॉक्सी सर्वर पर भरना झंझट का काम है और कई दफा स्वयं प्रॉक्सी सर्वरों में ही समस्या होती है.
प्रॉक्सी सर्वर से इंटरनेट उपयोगकर्ता की जानकारी नहीं हो पाती है। यदि प्रॉक्सी वेबसाइट को भी रोक दिया जाता है तो वेबसाइट fall.csprinceton.edu/codeen/ पर चार सौ से ज्यादा प्रॉक्सी वेबसाइट की जानकारी दी हुई है,जिसका उपयोग किया जा सकता है।

Don't be shellfish...FacebookGoogle+TwitterEmail

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>